- Advertisment -
HomeNationalराजस्थान: कोटा थाने में खुद को आग लगाने वाले युवक ने दिल्ली...

राजस्थान: कोटा थाने में खुद को आग लगाने वाले युवक ने दिल्ली में तोड़ा, हंगामा Indian_Samaachaar

- Advertisment -
- Advertisement -

हाइलाइट

घटना 15 सितंबर को कोटा के नयापुरा थाने की है.
कांग्रेस पार्षद के खिलाफ दर्ज मामले में कार्रवाई नहीं करने से आहत युवक

कोटा कोचिंग सिटी कोटा के नयापुरा थाना परिसर में आत्मदाह का प्रयास करने वाला युवक राधेश्याम मीणा आखिरकार जिंदगी की जंग हार गया. घटना के पांच दिन बाद मंगलवार को इलाज के दौरान राधेश्याम की दिल्ली में मौत हो गई। दिल्ली के सरफदजंग अस्पताल में उनका इलाज चल रहा था। युवक की मौत की खबर कोटा पहुंचते ही लोगों में आक्रोश फैल गया और पुलिस के हाथ फूल गए। पुलिस ने संभावित हंगामे को देखते हुए सबसे पहले नयापुरा थाने में भारी पुलिस बल तैनात कर सुरक्षा घेरा बनाया है. स्थिति को देखते हुए पुलिस प्रशासन फुल अलर्ट मोड पर आ गया है।

दरअसल राधेश्याम ने 15 सितंबर की शाम नयापुरा थाने पहुंचकर आत्मदाह करने की कोशिश की थी. उन्होंने आरोप लगाया कि एक मामले में शिकायत दर्ज करने के बाद भी पुलिस कांग्रेस पार्षद के खिलाफ कार्रवाई नहीं कर रही है. इससे आहत होकर उसने अपने ऊपर पेट्रोल फेंका और खुद को आग लगा ली। घटना से थाने में हड़कंप मच गया। पुलिसकर्मियों ने किसी तरह आग बुझाई और उसे एमबीएस अस्पताल पहुंचाया।

राधेश्याम 40 फीसदी तक झुलसे
आग से राधेश्याम करीब 40 फीसदी जल गया। घटना की सूचना मिलते ही थाना व फिर अस्पताल में बड़ी संख्या में लोग जमा हो गए। तब इस मामले पर सियासत भी खूब हुई थी। बाद में इस मामले में कई पुलिसकर्मियों पर आरोप लगे। कोटा में युवक की हालत में सुधार नहीं होने पर उसे पहले जयपुर रेफर किया गया। वहां भी कोई सुधार न देखकर उसे दिल्ली रेफर कर दिया गया। मंगलवार को दिल्ली में इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई। इससे मामला फिर गरमा गया। युवक का शव मंगलवार देर शाम कोटा लाया गया।

नयापुरा थाने को बनाया पुलिस कैंप
हंगामे और प्रदर्शन की आशंका को देखते हुए पुलिस ने मंगलवार शाम को ही नयापुरा थाने में कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की थी. थाने के चारों ओर सड़कों पर बैरिकेड्स लगाकर आवाजाही को पूरी तरह से रोक दिया गया. वहां बड़ी संख्या में पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है और वरिष्ठ अधिकारियों को निगरानी के निर्देश दिए गए हैं. भाजपा के पूर्व विधायक प्रह्लाद गुंजाल ने आरोप लगाया कि इतने बड़े घटनाक्रम के बाद भी सरकार की ओर से अब तक कोई बयान नहीं आया है. यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि यह घटना मंत्री के विधानसभा क्षेत्र में हुई। उन्होंने कहा कि मृतक के परिजनों को न्याय दिलाने के लिए अगले कदम उठाए जाएंगे।

टैग: क्राइम न्यूज, कोटा समाचार, राजस्थान समाचार, आत्महत्या का मामला

- Advertisement -
Latest News & Updates
- Advertisment -

Today Random News & Updates