- Advertisment -
HomeNationalबच्चों को पूरी बाजू के कपड़े पहनकर स्कूल आने का निर्देश Indian_Samaachaar

बच्चों को पूरी बाजू के कपड़े पहनकर स्कूल आने का निर्देश Indian_Samaachaar

- Advertisment -
- Advertisement -

उत्तर प्रदेश में डेंगू के मामलों में लगातार हो रही बढ़ोतरी को देखते हुए माध्यमिक शिक्षा विभाग ने स्कूलों और स्कूली बच्चों को लेकर कई तरह के दिशा-निर्देश जारी किए हैं. विद्यार्थियों व अभिभावकों को जागरूक करने के निर्देश दिए गए हैं, ताकि विद्यार्थियों को इन बीमारियों से बचाया जा सके.

(प्रतिनिधि फोटो: रॉयटर्स)

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में डेंगू और चिकनगुनिया के बढ़ते मामलों को देखते हुए माध्यमिक शिक्षा विभाग ने सभी जिला विद्यालय निरीक्षकों को इनसे स्कूली छात्रों की सुरक्षा के उपाय करने के संबंध में दिशा निर्देश जारी किया है.

इन गाइडलाइंस में राज्य सरकार ने 12वीं कक्षा तक के छात्रों को स्कूल परिसर में पूरी बाजू की शर्ट और ट्राउजर पहनने को कहा है.

हिंदुस्तान टाइम्स की खबर के मुताबिक माध्यमिक शिक्षा निदेशक महेंद्र देव ने कहा है कि स्कूलों के माध्यम से छात्रों और अभिभावकों को जागरूक किया जाए, ताकि छात्रों को इन बीमारियों से बचाया जा सके.

उन्होंने आगे कहा, ‘छात्रों को पूरी शर्ट और पतलून में स्कूल आने का निर्देश दिया जाना चाहिए. दैनिक प्रार्थना सभा में बच्चों को इन बीमारियों और इनसे होने वाली समस्याओं के बारे में अवश्य ही अवगत कराना चाहिए।

देव ने एक आदेश में कहा, ‘जरूरत के मुताबिक गांवों में भी जन जागरूकता रैलियां आयोजित की जाएं। परिसर में खुली पानी की टंकियों की नियमित सफाई की जाए। यह सुनिश्चित किया जाए कि स्कूल परिसर और उसके आसपास कहीं भी जल-जमाव न हो।

निदेशक ने कहा, ‘यह सुनिश्चित किया जाए कि स्कूल परिसर में हैंडपंप के पास नियमित सफाई हो और एंटी लार्वा/कीटनाशक का छिड़काव हो. स्कूल परिसर और आस-पड़ोस को साफ रखें और झाड़ियों को काट दें।

कहा गया है कि स्कूल प्रबंधन समिति की बैठक आयोजित कर उन्हें डेंगू और चिकनगुनिया जैसे संचारी रोगों और उनके दुष्प्रभावों के बारे में बताया जाए और उन्हें अपने घर और आसपास साफ-सफाई रखने के लिए प्रेरित किया जाए. इन कार्यों में स्थानीय लोगों का सहयोग लिया जाए।

देव ने कहा, ‘अगर किसी बच्चे में बुखार जैसे लक्षण विकसित होते हैं, तो उसका तुरंत इलाज किया जाना चाहिए। इसके लिए तत्काल प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र का सहयोग लिया जाए।

- Advertisement -
Latest News & Updates
- Advertisment -

Today Random News & Updates