- Advertisment -
HomeNationalघर में धमाका, 9 साल की बच्ची की मौत Indian_Samaachaar

घर में धमाका, 9 साल की बच्ची की मौत Indian_Samaachaar

- Advertisment -
- Advertisement -

पश्चिम बंगाल के उत्तर 24 परगना जिले में एक देसी बम विस्फोट में नौ साल की एक बच्ची की मौत हो गई। धमाका अब्दुल हुसैन के घर में हुआ। अब्दुल मृत बच्ची का मामा है। घटना बुधवार (16 नवंबर 2022) की है।

मिली जानकारी के अनुसार मृतक बालिका बछौरा गांव में अपने ननिहाल गई हुई थी. बुधवार की शाम उसने चंचलता से घर में रखे बम को उठा लिया। बम गिरते ही फट गया। धमाका होते ही अब्दुल परिवार सहित घर छोड़कर भाग गया। घायल बच्ची को ग्रामीण अस्पताल ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो गई।

अब्दुल हुसैन को गिरफ्तार कर लिया गया है। स्थानीय लोगों के मुताबिक अब्दुल तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) का कार्यकर्ता है। मीनाखान अनुमंडलीय पुलिस अधिकारी (एसडीपीओ) अमीनुल इस्लाम ने कहा, “मृतक की पहचान तीसरी कक्षा की छात्रा सोहना खातून उर्फ ​​झूमा के रूप में हुई है। वह दक्षिण 24 परगना जिले के बसंती इलाके की रहने वाली थी। घटना के दो दिन पहले छात्रा अपने मामा के घर आई थी। विस्फोट में उसके साथ खेल रही उसकी दोस्त रहीमा परवीन और अनीशा खातून घायल हो गईं।

पुलिस के मुताबिक, ‘जुमा के मामा अब्दुल हुसैन के घर में कैरम बोर्ड के बगल में देशी बम रखा हुआ था। जब लड़की ने मचान पर एक गेंद जैसी वस्तु देखी, तो उत्सुकता से उसने उसे पकड़ने की कोशिश की। लेकिन कच्चा बम जमीन पर गिरा और फट गया.” पुलिस के मुताबिक, लड़की को लगा कि मचान पर नारियल रखा है. जब उसने उसे उठाने की कोशिश की तो वह नीचे गिर गया और धमाका हुआ.

अधिकारी के मुताबिक, ग्रामीण बच्ची को मिनाखान ग्रामीण अस्पताल लेकर आए थे। घटना के बाद अब्दुल अपने परिवार के साथ भाग गया था। लेकिन गुरुवार (17 नवंबर 2022) सुबह उसे पकड़ लिया गया। पुलिस ने बताया कि अब्दुल के घर से सात देशी बम भी बरामद किए गए हैं। उसके खिलाफ आईपीसी की संबंधित धाराओं और विस्फोटक पदार्थ अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया था। उसके भाई अब्दुल सत्तार को भी गिरफ्तार किया गया है।

पुलिस के मुताबिक अब्दुल कंस्ट्रक्शन वर्कर है और किराना दुकान भी चलाता है। स्थानीय लोगों ने बताया कि वह सत्तारूढ़ टीएमसी से भी जुड़ा हुआ है। उसका आपराधिक रिकॉर्ड भी है। हालांकि, पार्टी ने इस दावे का खंडन किया है। तृणमूल नेता अज़ीज़ुल ग़ाज़ी ने कहा है, “पार्टी का अब्दुल हुसैन से कोई संबंध नहीं है.”

- Advertisement -
Latest News & Updates
- Advertisment -

Today Random News & Updates