- Advertisment -
HomeNationalएमपी के स्कूलों में पढ़ाई जाएगी गीता-रामायण: शिवराज Indian_Samaachaar

एमपी के स्कूलों में पढ़ाई जाएगी गीता-रामायण: शिवराज Indian_Samaachaar

- Advertisment -
- Advertisement -
मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने घोषणा की है कि अब मध्य प्रदेश के सरकारी स्कूलों में गीता और रामायण पढ़ाई जाएगी। भोपाल में विद्या भारती के कार्यक्रम ‘सुघोष दर्शन’ में मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रदेश के शासकीय विद्यालयों में धार्मिक ग्रंथ पढ़ाने की घोषणा की है. कांग्रेस ने इसे संघी एजेंडा बताया है।

मुख्यमंत्री ने कहा है- हम सरकारी स्कूलों में अपने धर्म ग्रंथ पढ़ाएंगे। गीता का सार, रामायण, रामसेतु और महाभारत के प्रसंग पढ़ाएंगे। महापुरुषों का अपमान करने वाले ऐसे लोगों को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। मध्यप्रदेश में इन ग्रंथों को पढ़ाकर हम बच्चों को नैतिक शिक्षा देंगे।

ताज़ा खबर

मुख्यमंत्री की घोषणा ने लिया राजनीतिक रंग मध्य प्रदेश कांग्रेस मीडिया सेल के प्रमुख केके मिश्रा ने राज्य सरकार की घोषणा से जुड़े सवाल के बाद ‘सत्य हिंदी’ को दिए अपने जवाब में यह प्रतिवाद किया. सवाल उठाते हुए उन्होंने कहा, ‘चुनाव के वक्त बीजेपी को शास्त्र, धार्मिक कर्म और भावनाओं को भड़काने वाले मुद्दों की याद क्यों आती है? गीता पढ़ाने की घोषणा के पीछे वास्तविक ग्रंथ भगवद गीता नहीं, बल्कि भाजपा का संघी एजेंडा है।

मिश्रा ने इसका भी जवाब दिया और कहा, ‘दरअसल, मध्य प्रदेश समेत कई राज्यों और देश की राजनीति में बीजेपी का असली चेहरा सामने आ गया है. वह धर्म और धार्मिक भावनाओं को भड़काकर चुनावी नैया पार लगाती रही हैं। अब जनता इन सब बातों का खंडन कर रही है। इसके बाद भी भाजपा मध्य प्रदेश और अन्य चुनावी राज्यों में धर्म-कर्म का सहारा लेने से बाज नहीं आ रही है।

मिश्रा ने कहा, ‘भारत एक ऐसा देश है जहां सभी धर्म संभव हैं। ऐसे में गीता ही क्यों, आने वाली पीढ़ियों को हर धर्म को जानने, समझने और समझने का अधिकार है। बीजेपी हर धर्म की शिक्षा की बात क्यों नहीं करती?

वहीं बीजेपी के पुराने प्रवक्ता और मौजूदा विधायक रामेश्वर शर्मा ने कहा- जो हिंदू शास्त्रों को पढ़ता है, उनमें दी गई शिक्षाओं को ग्रहण करता है, उसकी कभी हार नहीं होती. निजी और सार्वजनिक जीवन में इन्हें अवश्य ही सफलता मिलेगी।

मध्य प्रदेश से और खबरें

1500 छात्रों ने भाग लिया

नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती पर भोपाल के ओल्ड कैंपियन ग्राउंड में आयोजित सुघोष दर्शन कार्यक्रम में प्रदेश के 75 सरस्वती शिशु मंदिरों के 1500 विद्यार्थियों ने घोष किया.

इसी साल विधानसभा चुनाव होने हैं

मध्य प्रदेश में इसी साल विधानसभा चुनाव होने हैं। राज्य विधानसभा में 230 सीटें हैं। पिछला चुनाव बीजेपी हार गई थी। ज्योतिरादित्य सिंधिया की बगावत के बाद कांग्रेस सरकार को गिराकर भाजपा की सत्ता में वापसी हुई।

- Advertisement -
Latest News & Updates
- Advertisment -

Today Random News & Updates