- Advertisment -
HomeNationalअमेरिका-भारत के संबंध गहरे हुए हैं: पेंटागन - दिप्रिंट Indian_Samaachaar

अमेरिका-भारत के संबंध गहरे हुए हैं: पेंटागन – दिप्रिंट Indian_Samaachaar

- Advertisment -
- Advertisement -

(ललित के. झा)

वाशिंगटन, 22 सितंबर (भाषा) पेंटागन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा है कि भारत और अमेरिका के बीच संबंध पहले से कहीं ज्यादा मजबूत हुए हैं और दोनों देश हिंद-प्रशांत क्षेत्र की मौजूदा स्थिति को देखते हुए भविष्य पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं। हैं।

भारत-प्रशांत सुरक्षा मामलों के लिए अमेरिकी सहायक विदेश मंत्री डॉ. एली एस. रैटनर ने कहा कि अमेरिका हिंद-प्रशांत क्षेत्र में शक्ति संतुलन बनाए रखने की भारत की क्षमता का समर्थन कर रहा है। डॉ. रैटनर ने पत्रकारों के एक समूह के साथ बातचीत के दौरान यह बात कही।

उन्होंने कहा कि भारत के विदेश मंत्री एस. जयशंकर का सोमवार को पेंटागन में रक्षा मंत्री लॉयड ऑस्टिन से मिलने का कार्यक्रम है। उन्होंने कहा कि यह मुलाकात भारत के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के साथ ऑस्टिन की लंबी फोन कॉल के बाद हुई है।

रैटनर ने कहा कि हालिया बातचीत के आलोक में यह स्पष्ट है कि अमेरिका और भारत के संबंध ऐतिहासिक रूप से गहरे हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि अमेरिका भारत के सैन्य आधुनिकीकरण का समर्थन कर रहा है।

उन्होंने कहा कि अमेरिका प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से हाल ही में की गई उस टिप्पणी से प्रसन्न है जिसमें उन्होंने कहा था कि “आज का युग युद्ध का समय नहीं है”।

पिछले हफ्ते शंघाई सहयोग संगठन शिखर सम्मेलन के इतर उज्बेकिस्तान शहर समरकंद में पुतिन के साथ अपनी मुलाकात के दौरान मोदी ने रूसी राष्ट्रपति से कहा, “आज युद्ध का समय नहीं है और मैंने आपसे इस बारे में फोन पर बात की है।” पूर्वाह्न।”

रैटनर ने कहा, “हम पिछले सप्ताहांत (यूक्रेन मुद्दे पर) प्रधानमंत्री मोदी की टिप्पणियों से खुश हैं।”

भाषा शफीक अमित

असीम

यह खबर ‘भाषा’ समाचार एजेंसी से ‘ऑटो-फीड’ द्वारा ली गई है। दिप्रिंट इसकी सामग्री के लिए ज़िम्मेदार नहीं है.

- Advertisement -
Latest News & Updates
- Advertisment -

Today Random News & Updates